Wednesday, Jul 30th

Last update05:16:36 PM GMT

You are here:: देश

Warning: Attempt to modify property of non-object in /home/nnilive/public_html/components/com_jomcomment/mambots.php on line 143

देश

मोदी और राहुल के हैं अंबानी से रिश्तेःकेजरीवाल

E-mail Print PDF

नई दिल्लीः आप के संयोजक और पूर्व सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। बीजेपी के पीएम कैंडिडेट पर उन्होंने आरोपों की बौछार कर दी। केजरीवाल ने मुकेश अंबानी के साथ रिश्तों का आरोप लगाते हुए मोदी पर सवाल भी खड़े किए। साथ ही रोहतक में आप की रैली में उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को प्रॉपर्टी डीलर और दलाल तक कह डाला।

AddThis Social Bookmark Button

पूर्वोत्तर राज्यों में इस बार खिलेगा कमलःमोदी

E-mail Print PDF

गुवाहाटीः भारतीय जनता पार्टी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में रैलियों को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि इस बार यहां पर कमल खिलेगा। असम के सिलचर, अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट और त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में होंगी। असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने मोदी की रैली के संबंध में लोगों से अपील की हैं कि नरेंद्र मोदी का राज्य में मेहमान जैसा वर्ताव होना चाहिए।
अरुणाचल प्रदेश में नरेंद्र मोदी इससे पहले विजय संकल्प रैली को संबोधित कर चुके हैं। तय कार्यक्रम के अनुसार मोदी सबसे पहले अरुणाचल प्रदेश में पूर्वी सियांग के जिला मुख्यालय पासीघाट पहुंचेंगे। यहां शनिवार सुबह 11.00 बजे के करीब मोदी का भाषण शुरू हुआ। इसके बाद मोदी असम के सिलचर में रैली करेंगे। त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में स्वामी विवेकानंद स्टेडियम में मोदी की तीसरी रैली का आयोजन किया गया है। यहां करीब एक लाख लोगों के आने की उम्मीद जताई जा रही है। वहीं मोदी के रैली में पहुंचते ही वहां के लोगों ने उन्हें पारमपरिक मुकुट भेट किया और स्थानिय गीत गाकर उनका स्वागत किया।

AddThis Social Bookmark Button

भाजपा यूपी में मजबूत, बिहार में जदयू को झटका

E-mail Print PDF

नई दिल्लीःआगामी लोकसभा चुनाव से पहले एक न्यूज चैनल द्वारा किये गये सर्वे में भारतीय जनता पार्टी को यूपी में बड़ी सफलता मिलती दिखाई दे रही है। साथ ही बिहार में भी भाजपा को सफलता मिल रही है लेकिन वहां मौजूद सत्तरूड़ दल जदयू को भारी झटका लग रहा है। उत्तर प्रदेश और बिहार में मोदी लहर का असर देखने को मिल रहा है।

AddThis Social Bookmark Button

तेलंगाना पर राज्यसभा में नहीं हो पाई चर्चा

E-mail Print PDF

नई दिल्लीः राज्यसभा में बहुचर्चित तेलंगाना विधेयक पर बुधवार को चर्चा शुरू नहीं हो सकी जबकि इस विधेयक के विरोध में सदन में दिन भर भारी हंगामा होता रहा और बैठक को कई बार स्थगित किया गया। हंगामे के दौरान तेलंगाना विधेयक का विरोध कर रहे तेदेपा के एक सदस्य ने महासचिव के हाथ से दस्तावेज छीनने का प्रयास किया जबकि आसन की ओर से एक केन्द्रीय मंत्री एवं लोकसभा सदस्य को उच्च सदन छोड़कर जाने को कहा गया।
तेलंगाना मुद्दे पर दोपहर 12 बजे सदन की बैठक एक बार के स्थगन के बाद शुरू होने पर तेदेपा के दो और कांग्रेस के एक सदस्य आंध्र प्रदेश को विभाजित किए जाने का विरोध करते हुए आसन के समक्ष आ गए। हंगामे के बीच ही उपसभापति पीजे कुरियन ने आवश्यक दस्तावेज सदन पटल पर रखवाए। इसी क्रम में राज्यसभा के महासचिव शमशेर के शरीफ उपसभापति के निर्देश पर सदन में कोई घोषणा करने जा रहे थे तभी आसन के समक्ष खड़े तेदेपा के सीएम रमेश ने उनके हाथ से वह दस्तावेज छीनने का प्रयास किया जो वह पढ़ने वाले थे। इसके फौरन बाद राज्यसभा कर्मी वहां आ गए और रमेश को रोकने का प्रयास किया।
कुरियन ने रमेश के इस व्यवहार पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि सदन में इस तरह के आचरण की अनुमति नहीं दी जा सकती। हंगामा थमते नहीं देख कुरियन ने बैठक दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। दोपहर दो बजे बैठक शुरू होने पर कुरियन ने रमेश के आचरण का जिक्र करते हुए इसे बेहद निंदनीय बताया और कहा कि इससे सदन की मर्यादा का उल्लंघन हुआ है। उन्होंने कहा कि सदन में ऐसा आचरण नहीं किया जाना चाहिए।
भाजपा की मांग थी कि इस संबंध में आसन को सरकार को निर्देश देना चाहिए और ऐसे मंत्री सदन छोड़कर चले जाएं। कुरियन ने विपक्ष के नेता द्वारा उठाए गए व्यवस्था के प्रश्न को उचित ठहराते हुए कहा कि ऐसे मंत्री जो लोकसभा के सदस्य हैं, उनके द्वारा इस तरह का व्यवहार करना उचित नहीं है। वे मंत्री के तौर पर तो हस्तक्षेप कर सकते हैं लेकिन उन्हें सदन में इस तरह के व्यवहार की अनुमति नहीं दी जा सकती। उपसभापति ने ऐसे आचरण करने वाले मंत्रियों को सदन से बाहर जाने का निर्देश दिया।


AddThis Social Bookmark Button

मेरे पिता के हत्यारों को छोड़ने से हूं दुखीःराहुल गांधी

E-mail Print PDF

नई दिल्लीः कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि उनके पिता के हत्यारों को छोड़ा जा रहा है। जिससे वह बहुत दुखी हैं, राहुल ने कहा अगर एक प्रधानमंत्री के हत्यारों को छोड़ा जाएगा तो आम आदमी इंसाफ की उम्मीद कैसे कर सकता है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ये प्रतिक्रिया सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद तमिलनाडु सरकार द्वारा दोषियों को रिहा करने के फैसले पर आई है। राहुल यूपी के अमेठी में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे। हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि वे अपने पिता के हत्यारों के लिए फांसी के पक्ष में नहीं हैं। उधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने भी राहुल गांधी के बयान का समर्थन किया है। 

AddThis Social Bookmark Button

Page 3 of 483