Saturday, Nov 01st

Last update05:16:36 PM GMT

You are here:: स्वास्थ्य

Warning: Attempt to modify property of non-object in /home/nnilive/public_html/components/com_jomcomment/mambots.php on line 143

स्वास्थ्य

ज्यादा जीना चाहते हैं तो रोज़ करें जॉगिंग!

E-mail Print PDF

एनएनआई डेस्क

अगर आप लंबी उम्र चाहते हैं तो नियमित जॉगिंग शुरू कीजिए,इससे आपकी उम्र पांच से छह साल बढ़ सकती है। यह बात एक नए अध्ययन में उभर कर आई है जो डेनमार्क में हृदय संबन्धी अध्ययन का एक हिस्सा है। इस अध्ययन में पाया गया कि हर हफ्ते एक से ढाई घंटे की जॉगिंग लंबी उम्र का सबसे ज्यादा उपयोगी तरीका है। कोपनहेगन सिटी हार्ट स्टडी के प्रमुख हृदयविज्ञानी पीटर शनोह्र ने कहा कि इस अध्ययन से हम जॉगिंग के लाभों के बारे में निश्चित जवाब देने की स्थिति में आ गए हैं। शनोह्र ने कहा कि हम निश्चित रूप से कह सकते हैं कि नियमित जॉगिंग से उम्र बढ़ती है।

AddThis Social Bookmark Button

दिल को ‘सिकोड़ कर’ मिलेगी बीमारियों से मुक्ति!

E-mail Print PDF

एनएनआई डेस्क

चूहों और कुत्तों पर इस तकनीक के सफल प्रयोग के बाद अगले सप्ताह किसी मानव पर यह पहला प्रयोग होगा. दिल का दौरा और हृदय संबंधी अन्य जटिलताओं पर फतह पाने के लिए अगले सप्ताह दिल को सिकोड़ने वाला विश्व का पहला प्रयोग होगा।

AddThis Social Bookmark Button

मोटे लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता है एक्सरे

E-mail Print PDF

एनएनआई डेस्क
अगर आप मोटे हैं तो आपको अपनी चर्बी घटाने के लिये एक बार फिर से सोचना चाहिये। एक नये अध्ययन से पता चला है कि मोटे लोगों का सीटी स्कैन होने पर उनके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

AddThis Social Bookmark Button

देश में हर साल 5 लाख लोगों को मौत की नींद सुला रहा है कैंसर

E-mail Print PDF

एनएनआई डेस्क
नई दिल्ली

देश में हर साल 5 लाख लोगों की मौत की वजह कैंसर है। सरकार ने शुक्रवार को बताया कि 2011 में देश में कैंसर से पीड़ित मरीजों की संख्या 10,44,242 दर्ज की गई और 5,35,767 लोगों की मौत हुई। पिछले तीन साल से इस रोग से पांच लाख से अधिक लोगों की असमय मत्यु हो रही है।

AddThis Social Bookmark Button

हाई ब्लडप्रेशर के रोगियों के लिए रामबाण है किशमिश औऱ सोयाबीन

E-mail Print PDF

एनएनआई डेस्क
दिनभर में मुट्ठीभर किशमिश और सोयाबीन को अपने आहार का हिस्सा बनाकर उच्च रक्तचाप से बचा जा सकता है। हृदय रोग पर अमेरिका में हुए एक महत्वपूर्ण सम्मेलन में पेश किए गए दो अध्ययनों में यह बात कही गई है।

AddThis Social Bookmark Button

Page 1 of 25

  • «
  •  Start 
  •  Prev 
  •  1 
  •  2 
  •  3 
  •  4 
  •  5 
  •  6 
  •  7 
  •  8 
  •  9 
  •  10 
  •  Next 
  •  End 
  • »