Sunday, Apr 20th

Last update11:53:14 AM GMT

You are here:: विदेश

विदेश

मलेशियाःलापता विमान को खोजने के लिए 10 सैटेलाइट और 40 समुद्री जहाज जुटे

E-mail Print PDF

कुआलालंपुरः मलेशिया एयरलाइंस के लापता हवाई जहाज को एमएच-370 का चार दिन बाद भी कोई सुराग नहीं लगा। जिसके कारन विमान को ढुंडने के लिए दस देशों को कई युद्धपोत एयरक्राफ्ट और चीन के दस सैटेलाइट दक्षिण चीन सागर में गायब विमान की खोजबीन के लिए लगाये गये हैं। विमान शनिवार को मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए निकला था। इसके बाद वह दक्षिण-पूर्व एशिया के आसमान से अचानक गायब हो गया। इसमें 239 यात्री सवार थे।
इस बीच मलेशिया एयरलाइंस के गुम हुए विमान में चोरी वाले पासपोर्ट पर यात्रा कर रहे दो व्यक्तियों में से एक की सोमवार को पहचान हो गई। समाचार पत्र मलेशियन स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक कुआलालंपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे द्वारा उपलब्ध कराए गए सीसीटीवी फुटेज से व्यक्ति की पहचान हुई। कुआलालंपुर से बीजिंग जा रहे विमान की खोज में अमेरिका और रूस समेत कई देशों के 32 प्लेन और 40 समुद्री जहाज जुटे हैं।
बोइंग कंपनी ने कहा है कि मलेशिया एयरलाइन्स के लापता विमान की खोज में वह भी एक आधिकारिक अमेरिकी दल की मदद कर रही है। आशंका जताई जा रही है कि मलेशिया एयरलाइन्स 777 विमान थाईलैंड की खाड़ी में गिर चुका है। बोइंग ने कहा कि वह दक्षिण पूर्वी एशिया में मौजूद यूएस नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ्टी बोर्ड के दल को तकनीकी सलाहकार के तौर पर मदद करेगी।
मलेशिया एयरलाइन्स का बोइंग 777 विमान शनिवार को कुआलालंपुर से बीजिंग जा रहा था लेकिन अचानक लापता हो गया। बोइंग 777 मॉडल अब से पहले केवल एक बार ही दुर्घटना का शिकार हुआ है। दो इंजन वाले इस विमान का सुरक्षा संबंधी रिकॉर्ड बहुत ही अच्छा रहा है और वर्ष 1995 में पहली बार सेवा में शामिल होने के बाद से वह दुनिया का सर्वाधिक उड़ान भरने वाला यात्री विमान रहा है।

AddThis Social Bookmark Button

यूक्रेन मामला पर ओबामा ने कैमरान से की बात

E-mail Print PDF

वाशिंगटनः अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने यूक्रेन के ताजा घटनाक्रम पर सलाह मशविरा के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन से फोन पर बात की है। इस मुद्दे पर दोनों पक्षों का मानना है कि रूस की कार्रवाई यूक्रेन की संप्रभुता का उल्लंघन है। व्हाइट हाउस की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने रूस द्वारा यूक्रेन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के उल्लंघन को लेकर गंभीर चिंता जताई।
बयान के अनुसार, दोनों ने कहा कि मौजूदा हालात अस्वीकार्य हैं। रूस ने अपनी कार्रवाईयों की कीमत चुकानी शुरू कर दी है जैसे कि निवेशकों का भरोसा उसमें कम हो गया है।
बयान में कहा गया, दोनों नेताओं ने यूक्रेन की सरकार के अनुरोध पर यूरोपीय सुरक्षा और सहयोग संगठन द्वारा शुरू किए गए सैन्य पर्यवेक्षक अभियान का स्वागत किया। इसमें साथ ही कहा गया कि ओबामा और कैमरन ने यूक्रेन की सरकार के लिए समर्थन पर भी चर्चा की क्योंकि इससे यूक्रेन की अर्थव्ययवस्था को स्थिर करने में और मई में होने वाले चुनाव की तैयारियों में मदद मिलेगी।
व्हाइट हाउस ने कहा कि यूक्रेन की वैधानिक सरकार के लिए पुरजोर अंतरराष्ट्रीय समर्थन है और रूस की कार्रवाईयों की निंदा हो रही है।

AddThis Social Bookmark Button

चीनःआतंकियों ने किया चाकुओं से हमला,33 की मौत 130 घायल

E-mail Print PDF

बीजिंग: दक्षिण पश्चिम चीन के कुनमिंग शहर में शनिवार को एक रेलवे स्टेशन पर चाकुओं से लैस 10 से अधिक अज्ञात व्यक्तियों के एक समूह द्वारा किए गए 'हिंसक आतंकवादी हमले' में 33 व्यक्ति मारे गए और 130 से अधिक घायल हो गए।
कुनमिंग शहर की पुलिस ने हमलावरों की पहचान मुहैया कराने बिना कहा कि अज्ञात व्यक्तियों के समूह ने स्थानीय समयानुसार रात के नौ बजे कुनमिंग रेलवे स्टेशन पर चाकुओं से हमला किया।
संवाद समिति शिन्हुआ ने कहा, यह संगठित, सोचा-समझा हिंसक आतंकवादी हमला था। उसने बताया कि कई संदिग्धों को काबू में कर लिया गया। स्थनीय टेलीविजन चैनल के6 ने बताया कि पुलिस ने कई हमलावरों को गोली मार दी।

AddThis Social Bookmark Button

यूक्रेन से अपनी सेना हटाए रूसःओबामा

E-mail Print PDF

वाशिंगटन/ मास्कोः अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से यूक्रने से अपनी सेना हटाने और वहां तनाव कम करने को कहा है। व्हाइट हाउस की ओर जारी एक बयान में यह बात कही गई है। ओबामा ने पुतिन से अपने 90 मिनट की बातचीत में उनसे कहा कि अगर रूस को यूक्रेन में रह रहे अपने रूसी नागरिकों की सुरक्षा की चिंता है तो उसे शांतिपूर्ण तरीके से बातचीत के माध्यम से समस्या का समाधान करना चाहिए। उन्होंने रूस के इस कदम पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि रूस ने यूक्रेन की एकता और संप्रभुता का खुला उल्लंघन किया है।

AddThis Social Bookmark Button

चीन और रूस के बीच रेलवे पुल का निर्माण शुरू

E-mail Print PDF

बीजिंग: रूस से सटे चीन की सीमा पर रेलवे पुल का निर्माण बुधवार को शुरू हो गया। यह इस तरह का पहला पुल है जो चीन को रूस से जोड़ेगा।
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, इस माध्यम से हर साल 2.1 करोड़ टन का सामान ले जाया जा सकता है। यह पुल चीन के हेलांगजियांग प्रांत के तोंगजियांग बंदरगाह को रूस के निझानेलेनिस्कोए से जोड़ेगा। चीन और रूस के बीच पांच सालों के बाद इस पुल को बनाने के लिए समझौता हो पाया है।

AddThis Social Bookmark Button

Page 1 of 169

  • «
  •  Start 
  •  Prev 
  •  1 
  •  2 
  •  3 
  •  4 
  •  5 
  •  6 
  •  7 
  •  8 
  •  9 
  •  10 
  •  Next 
  •  End 
  • »